सुभाष चंद्र बोस ने आज ही बनाई थी भारत की पहली स्वतंत्र आज़ाद हिंद सरकार

सुभाष चंद्र बोस ने आज ही बनाई थी भारतीय इतिहास में इस दिन का बहुत महत्व है। इस दिन 1943 में, नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने स्वतंत्र भारत की पहली स्वतंत्र अनंतिम सरकार का गठन किया था। इस सरकार को आजाद हिंद सरकार कहा जाता है। जापान, जर्मनी, फिलीपींस, चीन, कोरिया, इटली और आयरलैंड सहित नौ देशों ने आजाद हिंद सरकार को मान्यता दी। आधुनिक तरीके से युद्ध करने में सेना की मदद करने के साथ-साथ जापान ने अंडमान और निकोबार द्वीप समूह को आजाद हिंद सरकार को सौंप दिया।

यह सुभाष चंद्र बोस थे जिन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान 21 अक्टूबर को सिंगापुर में आजाद हिंद सरकार का नेतृत्व किया था, जिन्होंने ‘तुम मुझे खून दो, मैं तुम्हें आजादी दूंगा’ का नारा दिया था। इसके परिणामस्वरूप, आज़ाद हिंद फौज को फिर से स्वतंत्रता आंदोलन के लिए बनाया गया था। आजाद हिंद की अपनी सेना, मुद्रा, डाक टिकट और यहां तक ​​कि बैंक भी थे। सुभाष चंद्र बोस सरकार के अध्यक्ष, प्रधान मंत्री, रक्षा मंत्री और विदेश मंत्री थे।

सुभाष चंद्र बोस का लक्ष्य ब्रिटिश सरकार को यह साबित करना था कि भारतीय अपने देश और सरकार को चलाने में सक्षम हैं। उस समय उनका बहुत प्रभाव था, और कई महिलाओं ने इस सरकार को गहने दान किए। शिवराज सिंह चौहान ने आज आजाद हिंद सरकार के स्थापना दिवस पर सुभाष चंद्र बोस को याद किया है। उनके शब्दों में, ‘आज का दिन हमारे देश के लिए उत्साह, उल्लास और गौरव का दिन रहा है। आज ही के दिन 1943 में नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने भारत की अनंतिम आजाद हिंद सरकार की स्थापना कर सक्षम भारतीयों के गुणों से ब्रिटिश सरकार को अवगत कराया था। सभी देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं।

Leave a Comment